ताजा खबर
 नगरीय क्षेत्र के जोनल एवं सहायक जोनल अधिकारियों की बैठक संपन्न |      कोरोना वायरस के स्रंक्रमण के नियंत्रण एवं निदानात्मक उपाय हेतु आदेश जारी  |      प्रत्येक दिवस ग्रामपंचायत कार्यालय खोलने के निर्देश |      बिना अनुमति के मुख्यालय छोड़ने पर की जायेगी कठोर अनुशासनात्मक कार्यवाही |      MP SINGRAULI रिलायंस प्रबंधन की मनमानी के कारण युवक की दर्दनाक मौत |      काँग्रेस के युवा नेता ने गरीब बस्तियों में वितरित किया अन्न |      संकट के घड़ी में भाजपा नेता आये सामने,जरूरत मंदों को उपलब्ध कराया राशन |      शहर को सेनेटाइज करने की कार्यवाही निरंतर जारी |      विभिन्न जिलों से नागरिकों द्वारा अपने जिले/राज्य हेतु प्रस्थान के सम्बंध में मध्यप्रदेश शासन गृह विभाग ने जारी किए दिशानिर्देश |      नोवल कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए जिले के सभ्रांत नागरिकों के साथ बैठक सम्पन्न |     
छत्तीसगढ़ के पावर प्लांटों में मंडरा रहा कोयले का संकट, उत्पादन प्रभावित
  • Updated: anokhiaawaj.in | Sep 22, 2019, 13:51 PM IST
  • Views: 193
Image

कोरबा। विद्युत कंपनी के पावर प्लांट में कोयला की आपूर्ति नियमित नहीं होने की वजह से बिजली उत्पादन कम हो गया है। मड़वा की 500 मेगावॉट इकाई दो दिन से बंद है। यहां केवल एक ही दिन का स्टॉक बचा है। डीएसपीएम पावर प्लांट में भी केवल दो दिन का कोयला शेष है। ऐसे में यदि एक दिन भी आपूर्ति प्रभावित होती है, तो इसका असर प्लांट के परिचालन में पड़ने से इन्कार नहीं किया जा सकता। कोयला खदानों में 23 सितंबर से प्रस्तावित हड़ताल के कारण आपूर्ति बाधित होने की चिंता पावर प्लांट प्रबंधन को सता रही है।

केंद्रीय विद्युत नियामक आयोग के नियमानुसार पावर प्लांट में कम से कम 15 दिन का कोयला स्टॉक रहना चाहिए, पर यह किसी भी प्लांट में संभव नहीं हो पा रहा। आलम यह है कि खदान से प्रतिदिन जो कोयला प्लांट तक पहुंच रहा, उस पर ही प्लांटों का संचालन हो रहा। जानकारों का कहना है कि एक दिन भी कोयला आपूर्ति ब

image

धित हुई तो कई प्लांट की धड़कनें रुक सकती है। कोयले की कमी से मड़वा की 500 मेगावाट की दो नंबर यूनिट को बंद कर दिया गया है। इधर पूर्व संयंत्र में 120 मेगावाट की एक यूनिट वार्षिक रखरखाव के लिए बंद है। इस वजह से यहां कोयला का संकट कम है। करीब एक सप्ताह का स्टॉक प्लांट में उपलब्ध है। प्रबंंधन का कहना है कि नियमित कोयला आपूर्ति आवश्यक है। वर्तमान में सिर्फ एचटीपीपी संयंत्र में ही लगभग 20 दिन का कोयला स्टॉक है।

 

डीएसपीएम प्लांट में दो दिन, मड़वा में एक दिन, लैंको में तीन दिन, एनटीपीसी में दो दिन का कोयला स्टॉक है। विषम परिस्थिति में प्लांट संचालित कर रहे प्रबंधन को अब कोयला उद्योग में होने वाली हड़ताल को लेकर चिंता सताने लगी है। बीएमएस व एसईकेएमसी इंटक ने पांच व शेष यूनियन ने एक दिन की हड़ताल में जाने का ऐलान किया है। इस दौरान कोयले का उत्पादन के साथ डिस्पैच भी बंद रखा जाएगा। ऐसे में कोयला संकट की स्थिति और गहरा सकती है। कोयला आपूर्ति बढ़ाने प्रबंधन लगातार प्रयास कर रहा है, पर सफलता नहीं मिल सकी है।

कम लोड पर चला रहे इकाई

विद्युत कंपनी से जुड़े जानकारों का कहना है कि प्लांट की इकाइयों को कम लोड पर चलाया जा रहा है। पीक आवर्स शाम छह से रात नौ बजे तक ही यूनिट पूरी क्षमता के साथ चलाई जा रही है। इसके बाद यूनिट से उत्पादन कम कर दिया जाता है। डीएसपीएम प्लांट की दोनों इकाई 167 एवं 165 मेगावॉट में चल रही है। इसी तरह एचटीपीपी की 210 मेगावाट की चारों इकाइयां 149 से 181 मेगावॉट के मध्य चलाई जा रही है। पूर्व संयंत्र की 120 मेगावॉट यूनिट से 89 मेगावॉट बिजली उत्पादित हो रही है। एचटीपीपी विस्तार से 471 मेगावॉट बिजली उत्पादन हो रही है। मड़वा से 336 मेगावाट बिजली राज्य को दी जा रही है।

 

डिमांड बढ़ी, लेना पड़ रहा सेंट्रल सेक्टर से 2051 मेगावॉट

बारिश नहीं होने से गर्मी ने पुन: अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। इससे राज्य में बिजली की मांग एक बार फिर बढ़ गई है। शनिवार को बिजली की डिमांड 4242 मेगावॉट के करीब थी, जबकि उपलब्धता 4154 मेगावॉट रही। विद्युत कंपनी के सभी प्लांट मिलाकर 1995 मेगावॉट बिजली उत्पादन कर रहे थे। आइपीपी व सीपीपी से बिजली मिलने पर कुल उपलब्धता 2191 मेगावॉट रही है। उत्पादन और डिमांड में अंतर आने पर सेंट्रल सेक्टर से 2051 मेगावॉट बिजली लेकर उपभोक्ताओं को प्रदान की जा रही है। इससे कटौती की स्थिति निर्मित नहीं हुई।

 

हाइड्रल प्लांट की तीन यूनिट चालू

 

बिजली संकट से उबरने उत्पादन कंपनी के बांगो स्थित 120 मेगावाट जल विद्युत संयंत्र की इकाइयों को पूरी क्षमता के साथ चलाया जा रहा है। 40-40 मेगावाट की तीनों इकाई से बिजली उत्पादन किया जा रहा है। बांगो डैम से हाइड्रल प्लांट के माध्यम से पानी छोड़ा जा रहा है। इससे संयंत्र से इकाई चालू कर बिजली उत्पादित की जा रही है।





Recent News


मध्यप्रदेश

 अनोखी आवाज सतना  आयुक्त नगर पालिक निगम श्री अमनबीर सिंह बैस की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मे. . .

अनोखी आवाज सतना कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री अजय कटेसरिया द्वारा कोरोना वायरस (ब्व्टप्क्-19) के संक्रमण के प्. . .

अनोखी आवाज सीधी कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी ने कोरोना वायरस (कोविड-19) को फैलने से रोकने के लिए जिले में किए गए ला. . .

...अन्य ख़बरें

 अनोखी आवाज सतना  आयुक्त नगर पालिक निगम श्री अमनबीर सिंह बैस की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मे. . .

अनोखी आवाज सतना कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री अजय कटेसरिया द्वारा कोरोना वायरस (ब्व्टप्क्-19) के संक्रमण के प्. . .

अनोखी आवाज सीधी कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी ने कोरोना वायरस (कोविड-19) को फैलने से रोकने के लिए जिले में किए गए ला. . .

...अन्य ख़बरें

 अनोखी आवाज सतना  आयुक्त नगर पालिक निगम श्री अमनबीर सिंह बैस की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मे. . .

अनोखी आवाज सतना कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री अजय कटेसरिया द्वारा कोरोना वायरस (ब्व्टप्क्-19) के संक्रमण के प्. . .

अनोखी आवाज सीधी कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी ने कोरोना वायरस (कोविड-19) को फैलने से रोकने के लिए जिले में किए गए ला. . .

...अन्य ख़बरें

भोपाल

 अनोखी आवाज सतना  आयुक्त नगर पालिक निगम श्री अमनबीर सिंह बैस की अध्यक्षता में सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष मे. . .

अनोखी आवाज सतना कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री अजय कटेसरिया द्वारा कोरोना वायरस (ब्व्टप्क्-19) के संक्रमण के प्. . .

अनोखी आवाज सीधी कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी ने कोरोना वायरस (कोविड-19) को फैलने से रोकने के लिए जिले में किए गए ला. . .

...अन्य ख़बरें

जबलपुर

स्प्रिंसक्लर युक्त सीवेज क्लीनिंग मशीनों, पम्प और हस्त चलित मशीनों से संपूर्ण शहर को किया जा रहा है सेनेटाइज  अ. . .

अनोखी आवाज सतना कोरोना आपदा हेतु जिले के 8 दानदाताओं द्वारा 3 लाख 37 हजार रूपये की राशि के चेक कलेक्टर श्री अजय कटेसर. . .

अनोखी आवाज ग्वालियर होम डिलेवरी के माध्यम से भी सामग्री की उपलब्धता है  नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथा. . .

...अन्य ख़बरें

इंदौर

स्प्रिंसक्लर युक्त सीवेज क्लीनिंग मशीनों, पम्प और हस्त चलित मशीनों से संपूर्ण शहर को किया जा रहा है सेनेटाइज  अ. . .

अनोखी आवाज ग्वालियर होम डिलेवरी के माध्यम से भी सामग्री की उपलब्धता है  नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथा. . .

इंदौर के लिये प्रशासनिक अधिकारियों का दल गठित होगा अनोखी आवाज भोपाल मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की सम्पूर्ण प्रद. . .

...अन्य ख़बरें
Copyright © 2019 Anokhi Aawaj. All Rights Reserved. Powered by Rama Technologies (Waidhan)