MP Board 10th 12th Results 2019: 12वीं का परीक्षा परिणाम 72.37 प्रतिशत रहा और दसवीं का परिणाम 61.32 प्रतिशत

0
347

भोपाल। मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं और 12वीं बोर्ड के परिणाम जारी कर दिए। परीक्षा परिणाम की घोषणा मॉडल स्कूल टीटी नगर ऑडिटोरियम में मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने की। 12वीं में दृष्टि सनोडिया ने टॉप किया है, ये सिवनी की उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की छात्रा हैं, इन्हें 500 में से 479 अंक मिले। 10वीं के टॉपर गगन दीक्षित को 500 में 499 अंक मिले हैं, ये सागर के हैं। 12वीं का परीक्षा परिणाम 72.37 प्रतिशत रहा और दसवीं का परिणाम 61.32 प्रतिशत रहा।

मुख्य सचिव सुधिरंजन मोहंती बोले कि इस साल बारहवीं के रिजल्ट में पांच फीसदी का इजाफा हुआ है। जो काफी अच्छा है। लड़कियों ने मेरिट लिस्ट में जगह बनाई है। सरकारी स्कूलों के बच्चों का निजी स्कूलों से बेहतर प्रदर्शन रहा है। इस साल दसवीं का रिजल्ट पिछली बार के मुकाबले कम रहा है। प्रमुख सचिव शिक्षा इसकी समीक्षा करेंगे और ये जांचेंगे कि किस जिले और किस विषय में नतीजे अच्छे नहीं रहे हैं।

मध्यप्रदेश बोर्ड (MP Board) अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर भी ये परिणाम जारी कर दिए गए। 10वीं की परीक्षा 27 मार्च को खत्म हो गई थी, जबकि 12वीं के छात्र 2 अप्रैल को आखिरी पेपर के बाद से परिणाम का इंतजार कर रहे थे। आचार संहिता की वजह से इस बार कोई बड़ा आयोजन नहीं किया गया, इस दौरान यहां भोपाल के मॉडल स्कूल के छात्र-छात्राएं और उनके अभिभावक मौजूद रहे। 10वीं और 12वीं के परीक्षा परिणाम एक साथ जारी करने के लिए विशेष इंतजाम किए गए थे। इन परिणामों के घोषित होने के बाद छात्र अपनी आगे की पढ़ाई पर फैसला लेंगे।

12वीं के अलग-अलग संकायों में ये रहे टॉप

कला संकाय में सिवनी की दृष्टि सनोडिया 479 अंक प्राप्त कर टॉप किया।

विज्ञान गण‍ित संकाय में अशोकनगर की आर्या जैन 486 अंक प्राप्त कर टॉप रहीं।

वाणिज्य संकाय में भोपाल के विवेक गुप्ता 486 अंक प्राप्त कर टॉप पर रहे।

कृषि समूह में दमोह की प्रिया चौरसिया 481 अंक प्राप्त कर टॉप पर रहीं।

ललित कला एवं गृह विज्ञान संकाय में लहार भिंड की प्रतिक्षा शर्मा 476 अंक प्राप्त कर टॉप पर रहीं।

जीव विज्ञान समूह में ग्वालियर के श्रीजन श्रीवास्तव ने 481 अंक प्राप्त कर टॉपर बने।

नतीजों के तुरंत बाद, मध्य प्रदेश स्टेट ओपन स्कूल MPSOS कक्षा 10वीं और कक्षा 12वीं के छात्रों के लिए ‘रुक जाना नहीं’ परीक्षा का आयोजन करेगा, जो बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए थे लेकिन इसे क्लियर नहीं कर सके। उसी के परिणाम जुलाई 2019 में ओपन स्कूल द्वारा घोषित किए जाएंगे। इस तरह से छात्र एक साल भी नहीं चूकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here