कचरे के दुर्गंध ने लोगो का जीना हुआ दूभर,ननि के 4 करोड़ रुपए पर अर्बन ने फेरा पानी

0
142

कचरे के पहाड़ से आने लगी दुर्गन्ध ,आस-पास के लोगों का जीना हुआ दूभर

जैविक खाद का सपना नही हुआ साकार, ननि के अधिकारी बने अंजान

अनोखी आवाज न्यूज़ सिंगरौली।नगर पालिक निगम सिंगरौली के विभिन्न वार्डों से कचरे का एकत्रीकरण कर जैविक खाद बनाने का जिम्मा अर्बन कंपनी को मिला था और बताया जाता हैं की इस कार्य की लागत करीब 4 करोड़ रूपए थी । इस 4 करोड़ में ननि के वार्डो का कचरा गली, मोहल्ले, दुकानों, नाली सहित अन्य कचरे को अलग-अलग कर गाड़ियों से प्लांट तक पहुंचाकर बकायदा जैविक खाद बनाना था, लेकिन अर्बन कंपनी व ननि अधिकारियों की लापरवाही के कारण हुआ इसके ठीक विपरीत

कचरे का पहाड़ देने लगा दुर्गंध

नगर पालिक निगम के वार्ड 41 में स्थित करोड़ों का कचरे का प्लांट अब जंग खा कर गिरने की कगार पर है। ऐसा इसलिए क्योंकि जबसे अर्बन कंपनी को कचरा प्रबंधन का जिम्मा मिला है, तब से बताया जाता है कि कचरे का प्लांट चला भी नहीं है, वहीं दूसरी ओर बीते दिवस जिले में तेज आंधी, तूफान और झमाझम बारिश से प्लांटों का कचरा लोगों के घरों तक उड़ने लगा है, साथ ही गीले कचरे का समुचित नियंत्रण ना होने के कारण दुर्गंध देने लगा है, जिससे आसपास के लोग परेशान हैं।

ननि के 4 करोड़ पर फिरा पानी, जैविक खाद का सपना नहीं हुआ साकार

अर्बन कंपनी के बारे में बताया जाता है कि कचरे का समुचित प्रबंधन जैविक खाद निर्माण हेतु करीब 4 करोड रुपए भोपाल से जारी किए गए थे, जहां ननि सिंगरौली की देखरेख में कार्य पूरा होना था। लेकिन नगर निगम के अधिकारियों की लापरवाही के कारण ननि के जैविक खाद्य बनाने के सपने पर पानी फिर गया।

भुगतान रोकने की उठी मांग

अर्बन कंपनी की लापरवाही के कारण जैविक खाद तो बनी नहीं अलग से अब लोगों का मुसीबत बनता जा रहा है। मुसीबत इसलिए की कचरे प्लांट के आस पास जितने भी मकान है कचरे के दुर्गंध से परेशान हैं और अर्बन कंपनी के जिम्मेदार हैं कि कानों में तेल डालें कुंभकरणी निद्रा में आराम कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here